My Actifit Report Card: June 23 2021

in Actifit3 months ago

भाग्य के भरोसे बैठे इंसान का भूत भविष्य वर्तमान तीनों अवस्था बेकार चली जाती हैं न तो वह पीछे कुछ करके आया होता है जो संचित है अपना आज वो यह कहकर खराब कर देता है कि भाग्य में होगा तो मिलने से कोई रोक नहीं सकता अब यह सोचिए जिसने कल कुछ किया नहीं आज कुछ कर नहीं रहा तो भविष्य आने वाला तो सुधर नहीं सकता क्यों रहते हैं भाग्य के भरोसे करम से भाग्य बनते और बिगड़ते है!
This report was published via Actifit app (Android | iOS). Check out the original version here on actifit.io


5350
Walking